Godhan Nyay Yojana

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना : कहते है गाय में समस्त देवी एवं देवता निवास करते है शायद इसलिए गाय को हमारे देश में माँ का दर्जा दिया गया है | गाय हमारे लिए बहुत उपयोगी है वो चाहे दूध हो, मूत्र हो या फिर गोबर | छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना को मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी ने 20 जुलाई 2020 को किसानों एवं पशुपालकों को लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से आरंभ की थी | इस योजना के माध्यम से राज्य सरकार गाय पालने वालों पशुपालकों से उचित दर पे गाय का गोबर खरीदेगी जिसका उपयोग वर्मी कम्पोस्ट खाद बनाने में होगा | जो भी इच्छुक लाभार्थी इस योजना का लाभ उठाना चाहते है उन्हें CG GODHAN NYAY SCHEME के माध्यम से आवेदन करना होगा | इस योजना को दो चरणों में चलाया जाएगा, पहले चरण में राज्य के 2240 गोशालाओं को सम्मिलित किया जाएगा फिर कुछ दिनों बाद 2800 गठनों का निर्माण करके दूसरे चरण में भी गोबर ख़रीदा जाएगा | गाय का गोबर बहुत तरह के काम में आता है, इसके माध्यम से अच्छा ईंधन तैयार होता है |   

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के तहत ग्रामीण और पशुपालकों के आय में ना सिर्फ बढ़ोतरी हुई है बल्कि वर्मी कम्पोस्ट और सुपर कम्पोस्ट के उपयोग से खाद्य की गुणवत्ता में सुधार भी आया है | इस योजना के माध्यम से गोबर की अब तक किसानों एवं पशुपालकों से 100 करोड़ रुपए से अधिक की खरीददारी की जा चुकी है और साथ ही 80000 महिलाओं को आजीविका मिली है |  

बिजली का उत्पादन गोबर से : आजकल हमारा पयार्वरण बहुत प्रदूषित हो रहा है और कही न कही इसकी वजह भी हम ही है | हमारी जरूरते न कम हो रही है ना ही हम अपनी जरूरतों को काबू में कर पा रहे है | छत्तीसगढ़ सरकार ने ये फैसला लिया है की खरीदे गए गाय के गोबर से बिजली का उत्पादन होगा जिससे पर्यायवरण को लाभ होगा | गोबर से बिजली बनाने का फैसला ग्लोबल वार्मिंग की बढ़ती दर को देखते हुए लिया गया है | पिछले 1 साल में इस योजना के माध्यम से 50 लाख क्विंटल गोबर की खरीदी की जा चुकी है | गोबर से बिजली बनाने के फैसले से कई लाभ होंगे जैसे पर्यायवरण कम प्रदूषित होना, किसानों की आय में बढ़ोतरी, रोज़गार के नए अवसर उत्पन्न होंगे | गोबर का इस्तेमाल वर्मी कम्पोस्ट बनाने के लिए होता है जिसकी मदद से किसानों को लाभ मिलता है और साथ ही साथ जैविक खेती को बढ़ावा भी मिलता है | 

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना की पात्रता :

  • आवेदक को छत्तीसगढ़ राज्य का स्थायी निवासी होना आवश्यक है | 
  • राज्य के गाय पशुपालकों को ही पात्रता की मान्यता दी जाएगी |
  • आधार कार्ड 
  • निवास प्रमाण पत्र 
  • मोबाइल नंबर 
  • फोटो ( पासपोर्ट साइज )

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना का आवेदन : छत्तीसगढ़ राज्य के जो भी इच्छुक पशुपालक इस योजना का लाभ उठाना चाहते है, उन्हें निचे दिए तरीकों को फॉलो करना होगा | 
  • छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको गूगल प्ले स्टोर में छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना  एप्लीकेशन को ढूँढना होगा फिर इसे डाउनलोड करने के लिए इनस्टॉल करना होगा | 
  • इस एप्लीकेशन के डाउनलोड होने के बाद आपको इसे ओपन करना होगा | 
  • इसके बाद आपको छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के आवेदन के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा फिर आपके सामने एक एप्लीकेशन फॉर्म खुल जायेगा | 
  • फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारियों को ध्यान से भरना होगा और फिर इस फॉर्म को सबमिट करना होगा | इस तरह से आवेदन पूरा हो जायेगा | 
छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना का उद्देश्य : हम सभी अच्छे से जानते है की किसानों और पशुपालकों की आय ज्यादा नहीं होती जिससे वह अपने पशुओं को अच्छा चारा नहीं खिला पाते है | साथ ही कुछ लोग तो अपने पशुओं का दूध निकाल कर उन्हें खुला छोड़ देते है जिससे गोबर यूँ ही खुले में पड़ा रहता है जिसकी वजह से गंदगी फैलती है और बीमारी भी | इन्हीं सभी समस्याओं को दूर करने के लिए राज्य सरकार ने छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना को शुरू किया है | छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के तहत राज्य सरकार किसानों से गाय का गोबर खरीदेगी जिससे पशुपालकों की आय में वृद्धि होगी और गाय का गोबर का गोबर व्यर्थ भी नहीं जायेगा |  

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के लाभ :  
  • राज्य सरकार छत्तीसगढ़ गोधन योजना के तहत पशुपालक और किसानों से उनके पशु के गोबर को उचित दर पर खरीदने का कार्य करेगी | 
  • योजना के तहत गोबर का इस्तेमाल वर्मी कम्पोस्ट खाद बनाने में किया जायेगा जिससे बिजली का भी उत्पादन होगा | 
  • योजना के माध्यम से किसानों और पशु पालन करने वालों की आय में उन्नति होगी जिससे उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा और उनका जीवन स्तर बेहतर होगा | 

Post a Comment

0 Comments