NDHM HEALTH ID CARD - 2021

 

हेल्थ आईडी : आज की दुनिया में हर लोग अच्छे स्वास्थ्य के पीछे भागते है, हर किसी को स्वस्थ रहना है | पुरानी कहावत भी है - अच्छा स्वास्थ्य है तो अच्छा जीवन है | अच्छा स्वास्थ्य भी तभी मुमकिन है जब लोग अपने खान-पान एवं रहन-सहन पर ध्यान दें | अच्छा स्वास्थ अच्छे वातावरण पर भी निर्भर करता है, जहाँ प्रदूषण की मात्रा कम हो | कोविद -19 जैसी महामारी ने चेता दिया है की हेल्थ कितनी जरुरी है | NDHM ने लोगो के अच्छे स्वास्थ रिकॉर्ड को डिजिटल रूप से सुरक्षित रखने के लिए हेल्थ आईडीबनायीं गयी है, यह 14 अंको की संख्या'से बना हुआ एक कार्ड जैसा है जो आपके पूरे परिवार के स्वास्थ का ख्याल रखता है |    

भारत सरकार की यह योजना एक ऐसे डिजिटल हेल्थ इकोसिस्टम को विकसित करेगी जिसमें हर व्यक्ति के पास अपनी एक यूनिक हेल्थ पहचान होगी | हमारे पीएम नरेन्द्र मोदीजी ने 74वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर 27 सितम्बर को प्रधानमंत्री डिजिटल हेल्थ मिशन की शुरुआत की | 

यूनिक हेल्थ आईडी एक 14 डिजिट का रैंडम तरीके से जेनेरेट किया हुआ नंबर होगा बिलकुल आधार कार्ड जैसा | इस कार्ड में व्यक्ति का पूरा हेल्थ रिकॉर्ड जैसे सम्बन्धित जाँच, रिपोर्ट, दवाईयाँ एवं डिस्चार्ज से जुडी सभी एवं पूरी जानकारी दी जाएगी | इस कार्ड की मदद से किसी भी व्यक्ति को एक शहर से दूसरे शहर में आसानी से ईलाज मिल सकता है | 

How to make Health ID : हेल्थ कार्ड बनवाने के लिए सबसे पहले आपको हेल्थ आईडी वेब पोर्टल या गूगल प्लेस्टोर से NDHM हेल्थ रिकॉर्ड एप्लीकेशन डाउनलोड करना होगा | राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन ( NDHM ) के तहत हेल्थ आईडी बनाने के लिए आपको ऑफिसियल वेबसाइट ( healthid.ndhm.gov.in ) पर जाना होगा या गूगल प्लेस्टोर से ABDM Health Records एप्लीकेशन को डाउनलोड करना होगा | एप्लीकेशन डाउनलोड करने के बाद आपको सेल्फ-रजिस्ट्रेशन करना होगा | इसके बाद मोबाइल नंबर की मदद से हेल्थ आईडी जेनेरेट करना होगा, जैसे - RAM@NDHM जिसके लिए आपको जानकारी सही देनी होगी जैसे-नाम, डेट ऑफ़ बर्थ, जेंडर, घर का पता, मोबाइल नंबर और आधार नंबर | इसके बाद आपकी 14 अंको का एक यूनिक डिजिटल हेल्थ आईडी बन जाएगी जो की आप डाउनलोड भी क्र सकते है | हेल्थ आईडी कार्ड के रजिस्ट्रेशन की पूरी प्रक्रिया 10 मिनट से भी कम समय में पूरी हो जाएगी | इसके अलावा आप अपने किसी भी नजदीकी सरकारी या प्राइवेट अस्पताल की मदद से अपनी हेल्थ आईडी बनवा सकते है | हेल्थ आईडी कार्ड बनवाने के लिए आपके पास अपना आधार कार्ड होना जरुरी है और वो आधार कार्ड आपके मोबाइल नंबर से लिंक होना जरुरी है | 


When you forgot your password : अगर आप अपना पासवर्ड भूल जाते है तो अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर द्वारा भेजे गए OTP की मदद से हेल्थ आईडी लॉगिन कर सकते है और अपना एक नया पासवर्ड बना सकते है | अगर फिर भी कोई दिक्कत आती है तो आप NDHM@NHA.GOV.IN पर मेल कर सकते है या टोल फ्री नंबर 1800-11-4477 पर कॉल भी कर सकते है | 

Nominee : अगर आप अपनी हेल्थ आईडी को किसी भी कारन से मैनेज नहीं कर पा रहे है तो आप इसका एक्सेस अपनी नॉमिनी को दे सकते है | NDHM की तरफ से यह फ़ीचर अभी शुरू किया जा रहा है और जल्द ही इस फीचर को निष्कासित कर दिया जाएगा |             

Is your Health Data safe : आपके हेल्थ डेटा का एक्सेस केवल आपके पास होगा, बिना आपकी अनुमति के कोई भी व्यक्ति आपके डेटा को एक्सेस नहीं कर सकता | आप देश में कही भी एवं किसी भी डॉक्टर को इसका एक्सेस दे सकते है जो की 14 अंको की आईडी दर्ज कराने और OTP वेरिफिकेशन के बाद मिलेगा | NDHM का कहना है की किसी भी प्रकार का हेल्थ रिकॉर्ड एवं डेटा स्टोर नहीं किया जाता | साथ ही साथ आपकी परमिशन के बिना कोई भी डेटा शेयर नहीं किया जा सकता है | इस हेल्थ आईडी कार्ड की मदद से आपका डॉक्टर केवल एक बार ही आपका डेटा देख सकता है, मतलब अगर आप डॉक्टर के पास दोबारा जाते है तो उस डॉक्टर को आपसे फिर से एक्सेस लेना होगा |   

Benefits : राष्ट्रीय डिजिटल स्वास्थ्य मिशन ( NDHM ) को भविष्य की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है | इससे न केवल मरीज़ों को लाभ मिलेगा बल्कि डॉक्टर और शोधकर्ताओं को भी काफी लाभ मिलेगा | कार्ड के डिजिटल होने से सभी प्रकार की कागजी कारवाई से मुक्ति मिलेगी और डॉक्टर को यह पता चल सकेगा की किसी भी मरीज़ को पहले कौन सी बीमारी थी |  



Post a Comment

0 Comments