Jharkhand Johar Yojana 2021


हमारा देश भारत एक कृषि प्रधान देश है | भारत की ज्यादातर जनसँख्या कृषि या पशुपालन पर पूरी तरह से निर्भर रहती है और यही वजह है की ये लोग हमारे अन्नदाता कहलाते है | अगर ये लोग खेती या पशुपालन छोड़ दे तो कितने लोग भूखे मर जाएंगे इसकी बस कल्पना ही की जा सकती है | देश की प्रत्येक राज्य सरकार अपने नागरिकों के लिए समय पर कुछ न कुछ करती है फिर वो चाहे कोई योजना हो, आर्थिक मदद हो या कुछ और | प्रत्येक राज्य अपने नागरिकों की ख़ुशहाली और उन्नति की कामना करता है | 

झारखण्ड राज्य भी अपने नागरिकों की उन्नति की कामना रहा है और उसके लिए निरंतर प्रयास भी कर रहा है | 15 नवंबर 2017 को हमारे राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद जी ने जोहार योजना ( Jharkhand Opportunities For Harnessing Rural Growth ) को आरम्भ किया था | इस योजना के क्रियान्वयन  के लिए साल 2017 -18 में 40 करोड़ की राशि लागत के लिए स्वीकृत की गयी थी | इस योजना का उद्देश्य ग्रामीण परिवारों की कृषि एवं पशुपालन संबंधी गतिविधियों की उत्पादों में वृद्धि लाना है तथा उनके जीवन स्तर में सकारात्मक सोच एवं परिवर्तन लाना भी है | योजना के माध्यम से उन्नत कृषि, पशुपालन एवं मत्स्यपालन आधारित उत्पादों में गुणात्मक वृद्धि होगी | यह योजना राज्य के 17 जिलों के 68 प्रखंडों में चलायी जाएगी और आने वाले 6 वर्षों ( 2017 - 24 ) में लगभग 2 लाख परिवारों को उनकी आजीविका के एक या एक से अधिक साधनों से जोड़ा जायेगा जिससे उनके जीवन स्तर में उन्नति आएगी |      

जोहार योजना के तहत लोगों को सब्ज़ी उत्पादक तकनीकी के लिए खेती की ट्रेनिंग के साथ - साथ मत्स्य पालन एवं मुर्गी पालन के साथ आर्थिक मदद भी दी जाएगी जिससे वे उच्च ट्रेनिंग लेकर भविष्य में अपना खुद का रोज़गार कर सके | मुख्यतः जोहार योजना बेरोज़गारों के लिए शुरू की गयी है ताकि लोग योजना के तहत अपना रोज़गार कर सके | अनुसूचित जाति और जन जाति के परिवारों को प्राथमिकता देने के साथ - साथ महिलाओं को 50 प्रतिशत की भागीदारी भी निश्चित की गयी है | इस योजना के तहत प्रत्येक गावँ से 15 महिलाओं का समूह बनाया जाएगा एवं साथ ही 1200 पंचायतो से 100 युवाओं को स्किल्ड किया जाएगा |   

उद्देश्य : जोहार योजना का उद्देश्य ग्रामीण परिवारों की कृषि एवं पशुपालन संबंधी गतिविधियों की उत्पादों में वृद्धि लाना है तथा उनके जीवन स्तर में सकारात्मक सोच एवं परिवर्तन लाना भी है | योजना के माध्यम से उन्नत कृषि, पशुपालन एवं मत्स्यपालन आधारित उत्पादों में गुणात्मक वृद्धि होगी | मुख्यतः जोहार योजना बेरोज़गारों के लिए शुरू की गयी है ताकि लोग योजना के तहत अपना रोज़गार कर सके और उन्नति कर सके | 

लाभ : 


  • योजना के तहत बेरोज़गार लोगों को रोज़गार मिलेगा | 
  • योजना के माध्यम से सरकार लाभार्थी को आर्थिक मदद भी देगी |
  • योजना के माध्यम से उन्नत कृषि, पशुपालन एवं मत्स्यपालन आधारित उत्पादों में गुणात्मक वृद्धि होगी | 
  • योजना के तहत अनुसूचित जाति और जन जाति के परिवारों को प्राथमिकता देने के साथ - साथ महिलाओं को 50 प्रतिशत की भागीदारी भी निश्चित की गयी है |
  • योजना के तहत सभी ग्रामीण महिलाओं को कौशल विकास का प्रशिक्षण देकर रोज़गार दिया जायेगा जिससे उनके गांव में उन्नति एवं खुशहाली आएगी |  

योजना की पात्रता एवं दस्तावेज़ 

पात्रता : 

  • आधार कार्ड 
  • पैन कार्ड 
  • निवास प्रमाण पत्र 
  • वोटर कार्ड 
  • पासपोर्ट साइज फोटो 
  • बैंक अकाउंट 
दस्तावेज़ :
  • लाभार्थी गरीब होने के साथ - साथ झारखण्ड राज्य का स्थायी निवासी भी होना चाहिए | 
  • लाभार्थी के परिवार से कोई भी व्यक्ति सरकारी नौकरी वाला नहीं होना चाहिए | 
  • लाभार्थी की वार्षिक आय 1 लाख या 1 लाख रुपए से ज्यादा नहीं होनी चाहिए | 


How to Apply Online :
  • सबसे पहले आवेदक को जोहार योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन करने के लिए झारखण्ड की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा जिसके बाद होम पेज खुल जाएगा | 
  • होम पेज पर आपको झारखण्ड जोहार लोन योजना का आधिकारिक लिंक दिखाई देगा जिसपर आपको क्लिक करना है | 
  • क्लिक करने के बाद एक नया पेज खुलेगा और आपको उस पेज में पूछी गयी सभी जानकारियां देनी होगी | 
  • जानकारियों के साथ - साथ आवश्यक दस्तावेज़ों का संग्रह करके सबमिट करना होगा | 
  • सबमिट करने के बाद आपका आवेदन फॉर्म झारखण्ड जोहार लोन योजना के तहत पूर्ण हो जाएगा |  

Post a Comment

0 Comments