Shaman Yojna 2021




किसी भी इंसान को अपना जीवन यापन करने के लिए तीन मूलभूत चीज़ों की आवश्यकता होती है रोटी, कपड़ा और मकान | अगर आज के हालात देखें जाए तो मकान या घर लेना हर किसी के बस की बात नहीं है | इसका कारण निरंतर बढ़ते मकानों की दरें और अवैध रूप से बनाया गया घर | एक घर होना सभी का सपना होता है ऐसा सपना जिसमे उसकी पूरी ज़िन्दगी गुज़र जाती है | घर पूरी तरह से वैध हो इसकी जानकारी सभी को होनी चाहिए | अवैध निर्माण वाले घरों में कभी न कभी भविष्य में संकट आता ही है | संकट इतना बड़ा हो सकता है की आप बेघर तक हो सकते हो | 

उत्तर प्रदेश सरकार ने शहरी क्षेत्रों के अवैध निर्माण को नियमित करने के लिए शमन योजना का निर्देश दिया है | योजना के तहत अवैध निर्माण को नियमित करने के लिए शमन शुल्क देकर अवैध निर्माण को निश्चित किया जा सकता है और इस योजना के तहत अवैध निर्माण को वैध किया जा सकता है | शमन योजना को 6 महीने के लिए लागू किया गया है एवं योजना का लाभ पाने के लिए 6 महीने के अंदर आवेदन करना होगा |

ग्रुप हाउसिंग और बहुमंजिला इमारतों में सेटबैक के नियमों एवं कानून तोड़ने  पर शमन शुल्क की दर भूमि मूल्य का 50 % निर्धारित की गयी है |    

शमन योजना के लाभ :

  • योजना के अंतर्गत 500 वर्ग मीटर से अधिक या फिर ग्रुप हाउसिंग जिसमे 7 या उससे अधिक फ्लैट्स बने होंगें उन्हें शुल्क देकर पूर्णतः वैध किया जा सकता है | इस योजना के तहत केवल उन्हीं संपत्तियों को पात्रता का अधिकार होगा जिसकी सैलरी 30 अप्रैल तक की है | 
  • निम्नतल/तहखाने  जो खुद की जमीन पर बने हुए है, उन्हें भी शमन योजना के तहत वैध कराया जा सकता है | 
  • 3000 वर्ग मीटर से कम के क्षेत्रफल की जमीन को बाँटने पर भी शमन की उत्तम सुविधा है |    

बिना नक्शा पास जुर्माना राशि :

 भूमि क्षेत्रफल एवं सुविधाएं 

 आवासीय ( रुपए प्रति वर्ग मीटर )

 व्यवसायिक                         

कार्यालय  

 100 वर्ग मीटर तक 

 10 

  आवासीय का दो गुना 

 आवासीय का डेढ़ गुना 

 101 से 300 वर्ग मीटर तक 

 15 

  आवासीय का दो गुना 

  आवासीय का डेढ़ गुना 

 301 से 500 वर्ग मीटर तक 

 20 

  आवासीय का दो गुना 

  आवासीय का डेढ़ गुना 

 501 से 2000 वर्ग मीटर तक 

 25 

  आवासीय का दो गुना 

  आवासीय का डेढ़ गुना 

 2001 वर्ग मीटर से अधिक 

 25 

  आवासीय का दो गुना 

  आवासीय का डेढ़ गुना 

शमन योजना की नयी दरें :

 निर्माण के प्रकार 

 2010 की दरें 

 प्रस्तावित योजना 

 व्यवसायिक भूखंड 

 भूमि मूल्य का 200 %

 भूमि मूल्य का 100%

 ग्रुप हाउसिंग एवं बहु मंजिला 

 भूमि मूल्य का 200 %

 भूमि मूल्य का 50%

 आवासीय भूखंड 

 भूमि मूल्य का 200 %

 भूमि मूल्य का 50%

 कार्यालय 

 भूमि मूल्य का 200 %

 भूमि मूल्य का 75%

 सामुदायिक सुविधाएं 

 भूमि मूल्य का 200 %

 भूमि मूल्य का 25%


शमन योजना की फ़ीस :
  • आवासीय भवन ( केवल भुखण्डीय विकास ) :- 1 रुपए प्रति वर्ग मीटर 
  • ग्रुप हाउसिंग :- रुपए 1.50  प्रति वर्ग मीटर  
  • व्यवसायिक भवन :- रुपए 2 प्रति वर्ग मीटर 
  • कार्यालय :- रुपए 1.50 प्रति वर्ग मीटर    
  • सामुदायिक सुविधाएं :- रुपए . 50 प्रति वर्ग मीटर 
योजना का आवेदन कैसे करें :
  • सबसे पहले आपको आवास बंधू की अधिकारिक वेबसाइट ( www.awasbandhu.in ) पर जाना होगा | 
  • उसके बाद आपको इस पोर्टल से फॉर्म को डाउनलोड करना है और उस फॉर्म को ध्यानपूर्वक अपनी सभी जानकारियों के साथ भरना है जैसे नाम, पिता का नाम, जन्म तिथि, मोबाइल नंबर इत्यादि | 
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपके मोबाइल पर OTP आएगा और आपको वही दर्ज करना है | 
  •  OTP दर्ज करने के बाद SUBMIT के ऑप्शंस पर क्लिक करे जिससे आपके ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया पूर्ण हो जाएगी |  


 योजना के उद्देश्य : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने सभी अवैध निर्माण को वैध करने का अभियान चलाया है जिससे लोगों की परेशानीयां कम होगी और अधिक लाभ मिलेगा | 
इस योजना से पहले आप अपनी संपत्ति को बेच नहीं सकते थे क्योंकि आपके पास संपत्ति के कोई भी दस्तावेज नहीं होते थे, पर अब आप अपनी संपत्ति के मालिक भी होंगे और अपनी मर्ज़ी के अनुसार संपत्ति को बेच भी सकते है | इस योजना का उद्देश्य आपको  संपत्ति का मालिकाना हक़ दिलाना है जिससे कोई भी दूसरा व्यक्ति  संपत्ति पर  प्रकार का हक़  अधिकार नहीं जमा पाएगा |     

Post a Comment

0 Comments